ज़िद्दी है दिल - Ziddi Hai Dil (Mannan Shaah, Namaste England)

Movie/Album: नमस्ते इंग्लैंड (2018)
Music By: मनन शाह
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: मनन शाह

ज़िद्दी है दिल सुनता नहीं
के मुश्किल है क्या
ज़िद्दी है दिल...

बहलाऊँ मैं, लाख समझाऊँ मैं
मगर दिल हठीला कहे
तुम ही इसकी हो तमन्ना
तुम ही इसकी आरज़ू
दिल है मेरा, इक जज़ीरा
तुम समंदर जानसू
दिल का मैं क्या करूँ
मैं जीयूँ या मरूँ
क्या करूँ क्या करूँ
तुम कहो क्या करूँ

कहता है ये दिल
ज़िन्दगी रात है और तुम रौशनी
रहता है ये दिल
ख़्वाबों की दुनिया में जो है तुमसे बनी
सहता है ये दिल
तुम बिन एक ऐसी रूत जो है तन्हाई की
बहता है ये दिल
दर्द की उस नदी में जो है बह रही
सारी मजबूरियाँ आ गयी है दरमियाँ
मगर दिल हठीला कहे...

सोया है ये दिल
बस तुम्हारे हसीं सपनों की बाहों में
खोया है ये दिल
बीते लम्हों को जाती हुई राहों में
खोया है ये दिल
आज भी उन मोहब्बत भरी बातों में
रोया है ये दिल
याद कर के तुम्हें चांदनी रातों में
गहरी मायूसियाँ छा रही हैं यहाँ
मगर दिल हठीला कहे...

क्या कहूँ जानेमन - Kya Kahoon Jaaneman (Shashaa Tirupati, Namaste England)

Movie/Album: नमस्ते इंग्लैंड (2018)
Music By: मनन शाह
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: शाशा तिरुपति

उह, आह
बेबी लेट मी लव यू
उह, आह
बेबी लेट मी किस यू
उह, आह
बेबी लेट मी हग यू
उह, आह
बेबी लेट मी लव यू

इन बाज़ुओं में जो ले लो मुझे
तो चैन शायद मिले
आओ मिटा भी दो अब तो मेरे
तन मन के सारे गिले
मैं हूँ तरसी तरसी
तरसा तरसा है ये मन
क्या कहूँ जानेमन
जलता है क्यूँ ये बदन
उह, आह
बेबी लेट मी लव यू...

देखो धीमे धीमे
हाँ कैसे होश खो गए
हो, तुम तो धीरे धीरे
हाँ बस मेरे हो गए
बेचैनियाँ और मैं हूँ
बेताबियाँ और मैं हूँ
मीठी सी, हर अंग में है थकन
क्या कहूँ जानेमन...

मैं हूँ बावली सी
हाँ तुम भी हो मनचले
हम्म, देखो मिटने ही थे
हाँ जो भी थे फासले
अब ना कोई मैं और ना तुम
इक दूसरे में दोनों गुम
कैसी है, दीवाने दिल की लगन
क्या कहूँ जानेमन...