चल घर चलें - Chal Ghar Chalen (Arijit Singh, Malang)

Movie/Album: मलंग (2020)
Music By: मिथुन
Lyrics By: सईद क़ादरी
Performed By: अरिजीत सिंह

पल-पल मेरा तेरे ही संग बिताना है
अपनी वफ़ाओं से तुझे सजाना है
दिल चाहता है तुझे कितना बताना है
हाँ, तेरे साथ ही मेरा ठिकाना है

अब थक चुके हैं ये क़दम
चल घर चलें मेरे हमदम
होंगे जुदा ना जब तक है दम
चल घर चलें मेरे हमदम
ताउम्र प्यार ना होगा कम
चल घर चलें मेरे हमदम
मेरे रहो तुम और तेरे हम
चल घर चलें मेरे हमदम

खुशबुओं से तेरी, महके हर एक कमरा
दर-ओ-दीवार नहीं, काफ़ी है तेरी पनाह
संग तेरे प्यार का जहां बसाना है
जिसमें रहें तुम और हम
चल घर चलें मेरे हमदम
मेरे रहो तुम और तेरे हम
चल घर चलें मेरे हमदम

खिड़की पे तू खड़ा, देखे हाँ रस्ता मेरा
आँखों को हर दिन मिले, यही इक मंज़र तेरा
बस अब तेरी बाँहों में, जानम सो जाना है
जागे हुए रातों के हम
चल घर चलें मेरे हमदम
होंगे जुदा ना जब तक है दम
चल घर चलें मेरे हमदम
ताउम्र प्यार ना होगा कम...

गले लगा ले ज़िन्दगी - Gale Laga Le Zindagi (Vijay Prakash, Priya Panchal, F.A.L.T.U.)

Movie/Album: फालतू (2011)
Music By: सचिन-जिगर
Lyrics By: समीर
Performed By: विजय प्रकाश, प्रिया पांचाल

हाँ किया महसूस के वो रगों में जो दौड़ता है
मिली जब रोशनी तो शोलों-सा खौलता है
हो किताबों में लिखा जो, हमने कब वो पढ़ा है
लिखते हैं हम फ़लक पे ख़ुद हमारी दास्ताँ
गले लगा ले, गले लगा ले
गले लगा, गले लगा ले ज़िन्दगी

धुंधली-धुंधली निगाहें, धुंधले-धुंधले हैं ख़्वाब
धुंधली तेरी निगाह है, धुंधले से दिन में ख़्वाब हैं
खोल निगाहें, बंद ख़्वाबों को उड़ जाने दे
तेरा है ये जहां, तेरा है ये जहां
बंदिशों से निकल के, दिल की राहों पे चल के
मिला है अब पता हमें ख़्वाबों की लकीरों का
गले लगा ले...