बावरा मन - Bawra Mann (Swanand Kirkire, Hazaron Khwahishein Aisi)

Movie/Album: हजारों ख्वाहिशें ऐसी (2003)
Music By: शांतनु मोइत्रा
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: स्वानंद किरकिरे

बावरा मन देखने चला एक सपना
बावरे से मन की देखो बावरी है बातें
बावरी सी धड़कनें हैं, बावरी है साँसे
बावरी सी करवटों से निंदिया तू भागे
बावरे से नैन चाहे, बावरे झरोखों से
बावरे नजारों को ताकना

बावरे से इस जहां में बावरा एक साथ हो
इस सयानी भीड़ में बस हाथों में तेरा हाथ हो
बावरी सी धुन हो कोई, बावरा एक राग हो
बावरे से पैर चाहे, बावरे तरानों के
बावरे से बोल पे थिरकना

बावरा सा हो अँधेरा, बावरी खामोशियाँ
थरथराती लौ मद्धम, बावरी मदहोशियाँ
बावरा एक घुंघटा चाहे हौले हौले बिन बताये
बावरे से मुखड़े से सरकना

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!