रोया दिल - Roya Dil (Shiraz Uppal, Dhokha)

Movie/Album: धोखा (2007)
Music By: एम.एम.क्रीम / शिराज़ उप्पल
Lyrics By: शकील आज़मी
Performed By: शिराज़ उप्पल

तन्हाई, संगदिल तन्हाई
संग लायी, याद तेरी संग लायी

बार बार हो बहार, फिर से याद आई
सूनी सूनी राह दिल की, जिसने जी सजाई
तनहा दिल
रोया रे, दिल रोया रे

हर तरफ़ बिखरे हैं तेरी, यादों के ही निशाँ
मेरी हर इक चीज़ में है, तेरी ही परछाईयाँ
तू ही होता है, तू ही रहता है
मुझ में हर दम सदा
पास भी तू है, दूर भी तू ही
है ये कैसी खला
याद बन के अश्क तेरी, आंखों में समाई
याद बन के इक हँसी,होंठों पे भी आई
तनहा दिल
रोया रे, दिल रोया रे

चाँद सूरज भी वहीं हैं, है वहीं आसमान
जिंदगी भी चल रही है, चल रहा है जहाँ
मैं ही ठहरा हूँ, ख़ुद में सिमटा हूँ
दिल है गम से भरा
बिन तेरे, कैसे जिऊँ मैं
कुछ तो दे मशवरा
जिंदगानी ऐसी रहगुज़र पे मुझको लायी
साए से भी अब तेरे हो गई जुदाई
तनहा दिल
रोया रे, दिल रोया रे

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!