दिल के अरमां - Dil Ke Armaan (Salma Agha, Nikaah)

Album/Movie: निकाह (1982)
Music By: रवि
Lyrics By: हसन कमाल
Performed By: सलमा आगा

दिल के अरमां आंसुओं में बह गए
हम वफ़ा करके भी तनहा रह गए

जिंदगी एक प्यास बनकर रह गई
प्यार के किस्से अधूरे रह गए
हम वफ़ा...

शायद उनका आखरी हो ये सितम
हर सितम ये सोचकर हम सह गए
हम वफ़ा...

खुदको भी हमने मिटा डाला मगर
फासले जो दरमियान थे रह गए
हम वफ़ा...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!