आवाज़ दे कहाँ है - Aawaaz De Kahan Hai (Noor Jehan, Surendra, Anmol Ghadi)

Movie/Album: अनमोल घड़ी (1946)
Music By: नौशाद
Lyrics By: तनवीर नकवी
Performed By: नूर जहां, सुरेन्द्र कुमार

आवाज़ दे कहाँ है
दुनिया मेरी जवां है
आबाद मेरे दिल में उम्मीद का जहां है
दुनिया मेरी जवां है...

आ रात जा रही है
यूँ जैसे चांदनी की
बारात जा रही है
चलने को अब फलक से
तारों का कारवाँ है
ऐसे में तू कहाँ है
दुनिया मेरी जवां है...

किस्मत पे छा रही है
क्यों रात की स्याही
वीरान है मेरी नींदें
तारों से ले गवाही
बर्बाद मैं यहाँ हूँ
आबाद तू कहाँ है
बेदर्द आसमां है...

आवाज़ दे कहाँ है...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!