हे नीले गगन के तले - He Neele Gagan Ke Tale (Mahendra Kapoor)

Movie/Album : हमराज़ (1967)
Music By : रवि
Lyrics By : साहिर लुधियानवी
Performed By : महेंद्र कपूर

हे नीले गगन के तले
धरती का प्यार पले
ऐसे ही जग में आती हैं सुबहें
ऐसे ही शाम ढले

शबनम के मोती, फूलों पे बिखरे
दोनों की आस फले
हे नीले...

बलखाती बेलें, मस्ती में खेलें
पेड़ों से मिलके गले
हे नीले...

नदियाँ का पानी, दरिया से मिलके
सागर की ओर चले
हे नीले...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!