मैं जहाँ रहूँ - Main Jahan Rahoon (Rahat Fateh Ali Khan, Krishna Beura, Namaste London)

Movie/Album: नमस्ते लन्दन (2007)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: राहत फ़तेह अली खान, कृष्णा बेउरा

मैं जहाँ रहूँ, मैं कहीं भी हूँ
तेरी याद साथ है
किसी से कहूँ, के नहीं कहूँ
ये जो दिल की बात है
कहने को साथ अपने एक दुनिया चलती है
पर छुपके इस दिल में तन्हाई पलती है
बस याद साथ है
तेरी याद...

कहीं तो दिल में यादों की इक सूली गढ़ जाती है
कहीं हर एक तस्वीर बहुत ही धुंधली पड़ जाती है
कोई नयी दुनिया के नए रंगों में खुश रहता है
कोई सब कुछ पाके भी ये मन ही मन कहता है
कहने को साथ...

कहीं तो बीते कल की जड़ें दिल में ही उतर जाती है
कहीं जो धागे टूटे तो मालाएं बिखर जाती है
कोई दिल में जगह नयी, बातों के लिए रखता है
कोई अपनी पलकों पर यादों के दिए रखता है
कहने को साथ...

4 comments :

  1. This is the evergreen songs for such people who live far away home. thanks Javad Akhtar Shaheb.

    ReplyDelete
  2. This is awesome song..
    Sir thanks for singing this song is really Nice song

    ReplyDelete
  3. Thanks Javed Akbar Sahab. Very nice song for loving people...3

    ReplyDelete

Like this Blog? Let us know!