सजन रे झूठ मत बोलो - Sajan Re Jhooth Mat Bolo (Mukesh, Teesri Kasam)

Movie/Album: तीसरी कसम (1966)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

सजन रे झूठ मत बोलो
खुदा के पास जाना है
न हाथी है न घोड़ा है
वहाँ पैदल ही जाना है

तुम्हारे महल चौबारे
यहीं रह जायेंगे सारे
अकड़ किस बात की प्यारे
ये सर फिर भी झुकाना है
सजन रे झूठ...

भला कीजे भला होगा
बुरा कीजे बुरा होगा
बही लिख-लिख के क्या होगा
यहीं सब कुछ चुकाना है
सजन रे झूठ...

लड़कपन खेल में खोया
जवानी नींद भर सोया
बुढ़ापा देखकर रोया
वही किस्सा पुराना है
सजन रे झूठ...

4 comments :

  1. gayak:Mukesh Ji Music Director:Shankar Jai Kishan beynd it Geetkat Shalendra jo ki kuchh golden geet likh kar amar ho gaye

    ReplyDelete
  2. Gayak:Mukesh ji
    Sangeet:Shankar Jai Kishan Ji
    Geet : Shalendra Ji

    Is Mahan geetkar ne jo makam itne kam samai main hasil kiya woh atulneeya hai............!

    From:Gyanesh Sharma

    ReplyDelete
  3. गीतों के माध्यम से संसार भर को सीखने समझने गुनगुनाने के लिए प्रेरित किया

    ReplyDelete

Like this Blog? Let us know!