तन्हाँ दिल, तन्हाँ सफ़र - Tanha Dil, Tanha Safar (Shaan)

Movie/Album: तन्हाँ दिल (2000)
Music By: राम संपत
Lyrics By: शान
Performed By: शान

आँखों में सपने लिए
घर से हम चल तो दिए
जाने ये राहें अब ले जायेंगी कहाँ
मिटटी की खुश्बू आये
पलकों पे आंसू लाये
पलकों पे रह जाएगा यादों का जहां
मंज़िल नयी है अनजाना है कारवाँ
चलना अकेले है यहाँ
तन्हाँ दिल, तन्हाँ सफ़र
ढूंढे तुझे, फिर क्यूँ नज़र

दिलकश नज़ारें देखे
झिलमिल सितारें देखे
आँखों में फिर भी तेरा चेहरा है जवां
कितनी बरसातें आयीं, कितनी सौगातें लायीं
कानों में फिर भी गूंजे तेरी ही सदा
वादे किये थे अपना होगा आशियाँ
वादों का जाने होगा क्या
तन्हाँ दिल, तन्हाँ सफ़र...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!