आये बहार बन के - Aaye Bahaar Banke (Md.Rafi, Raj Hath)

Movie/Album: राज हठ (1956)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

आये बहार बन के लुभाकर चले गए
क्या राज़ था जो दिल में छुपाकर चले गए

कहने को वो हसीन थे, आँखें थीं बेवफा
दामन मेरी नज़र से बचाकर चले गए
आये बहार बन के...

इतना मुझे बताओ मेरे दिल की धडकनों
वो कौन थे जो ख्वाब दिखा कर चले गए
आये बहार बन के...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!