लिखे जो ख़त तुझे - Likhe Jo Khat Tujhe (Md.Rafi, Kanyadaan)

Movie/Album: कन्यादान (1968)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: नीरज
Performed By: मो.रफ़ी

लिखे जो ख़त तुझे, वो तेरी याद में
हज़ारों रंग के, नज़ारे बन गए
सवेरा जब हुआ, तो फूल बन गए
जो रात आई तो, सितारे बन गए

कोई नगमा कहीं गूँजा, कहा दिल ने ये तू आई
कहीं चटकी कली कोई, मैं ये समझा तू शरमाई
कोई खुश्बू कहीं बिख़री, लगा ये ज़ुल्फ़ लहराई
लिखे जो खत तुझे...

फ़िज़ा रंगीं अदा रंगीं, ये इठलाना, ये शरमाना
ये अंगड़ाई, ये तन्हाई, ये तरसा कर चले जाना
बना देगा नहीं किसको, जवां जादू ये दीवाना
लिखे जो खत तुझे...

जहाँ तू है, वहाँ मैं हूँ, मेरे दिल की तू धड़कन है
मुसाफ़िर मैं, तू मंज़िल है, मैं प्यासा हूँ, तू सावन है
मेरी दुनिया, ये नज़रें हैं, मेरी जन्नत ये दामन में
लिखे जो खत तुझे...

6 comments :

  1. Awesome song by MD.RAFI thanx SIR

    ReplyDelete
  2. not fit to comment. i only like the song and sing.

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. very nice this song
    because old is gold
    kumar ARVIND

    ReplyDelete

Like this Blog? Let us know!