ज़िन्दगी जब भी तेरी बज़्म - Zindagi Jab Bhi Teri Bazm (Talat Aziz, Umrao Jaan)

Movie/Album: उमराव जान (1981)
Music By: खैय्याम
Lyrics By: शहरयार
Performed By: तलत अज़ीज़

ज़िन्दगी जब भी तेरी बज़्म में लाती है हमें
ये ज़मीं चाँद से बेहतर नज़र आती है हमें

सुर्ख फूलों से महक उठती हैं दिल की राहें
दिन ढले यूँ तेरी आवाज़ बुलाती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी...

याद तेरी कभी दस्तक, कभी सरगोशी से
रात के पिछले पहर रोज़ जगाती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी...

हर मुलाक़ात का अंजाम जुदाई क्यूँ है
अब तो हर वक़्त यही बात सताती है हमें
ज़िन्दगी जब भी तेरी...

2 comments :

  1. Shaandaar lyrics hain ye Pratik :)

    ReplyDelete
  2. The beauty of simplicity both of the singing and the lyrics touches many a simple heart

    ReplyDelete

Like this Blog? Let us know!