झूमता मौसम मस्त महीना - Jhoomta Mausam Mast Mahina (Manna Dey, Lata Mangeshkar, Ujala)

Movie/Album: उजाला (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मन्ना डे, लता मंगेशकर

झूमता मौसम, मस्त महीना
चाँद सी गोरी एक हसीना
आँख में काजल, मुँह पे पसीना
या अल्लाह, या अल्लाह, दिल ले गई

कोई रंगीला सपनों में आ के
एक नज़र से अपना बना के
प्यार का जादू हमपे चला के
या अल्लाह, या अल्लाह दिल ले गया

ठण्डी सड़क नीम तले
तीर-ए-नज़र ख़ूब चले
ओ तुम भी उधर ज़ख़्मी हुए
हम भी इधर ज़ख़्मी हुए
होय लाल चुनरिया, चाल निराली
सर पे झूमर, कान में बाली
हाथ में चूड़ियाँ मोतियों वाली
या अल्लाह, या अल्लाह...

तुम भी यहाँ, हम भी यहाँ
ऐसा मिलन होगा कहाँ
ओ तेरी क़सम जान-ए-जहां
दिल है वहीं, तू है जहाँ
ऐ दिल का मालिक इक मतवाला
इस जहां में सबसे निराला
प्यार का सूरज, दिल का उजाला
या अल्लाह, या अल्लाह...

दोनों तरफ़ आग लगी
ऐसी लगी बुझ न सकी
ओ तुम भी जले,मैं भी जली
खिल तो गई, दिल की कली
मुखड़ा तेरा गुल की कहानी
ज़ुल्फ़ें तेरी शाम सुहानी
रूप की मलिका, प्यार की रानी
या अल्लाह, या अल्लाह...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!