जुबां पे दर्द भरी - Zubaan Pe Dard Bhari (Mukesh, Maryada)

Movie/Album: मर्यादा (1971)
Music By: कल्याणजी आनंदजी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश

ज़ुबां पे दर्द भरी दासतां चली आई
बहार आने से पहले खिज़ा चली आई

खुशी की चाह में मैंने उठाये रंज बड़े
मेरा नसीब के मेरे कदम जहाँ भी पड़े
ये बदनसीबी मेरी भी वहाँ चली आई
ज़ुबां पे दर्द भरी...

उदास रात है, वीरान दिल की महफ़िल है
ना हमसफ़र है कोई, और ना कोई मंज़िल है
ये ज़िन्दगी मुझे लेकर कहाँ चली आई
ज़ुबां पे दर्द भरी...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!