ऐ मेरे हमसफ़र - Ae Mere Humsafar (Vinod Rathod, Alka Yagnik, Baazigar)

Movie/Album: बाज़ीगर (1993)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: रानी मलिक
Performed By: विनोद राठोड़, अलका याग्निक

ऐ मेरे हमसफ़र, ऐ मेरी जान-ए-जां
मेरी मंजिल है तू, तू ही मेरा जहां
ऐ मेरे हमसफ़र ऐ मेरे जान-ए-जां
बन गए आज हम दो बदन एक जां
ऐ मेरे हमसफ़र...

भीगा भीगा आँचल, आँखों का ये काजल घायल ना कर दे मुझे
सीने की ये हलचल, बढ़ने लगी पल पल, पागल ना कर दे मुझे
पागल जो हम हो गए, बन जाएगी दास्ताँ
आहिस्ता बोलो सनम, सुन लेगा सारा जहां
मेरी मंजिल है तू...

सांसो के ये शोले, सांसो में तू घोले, पल में पिघल जाएँ हम
होठों के अंगारे, होठों पे हमारे रख दे तो जल जाएँ हम
ये प्यार वो आग है, जिसमें नहीं है धुंआ
लगती है जब ये अगन, जल जाते हैं जिस्म-ओ-जां
बन गए आज हम...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!