आगे सुख तो पीछे दुःख है - Aage Sukh To Peeche Dukh Hai (Kavita, Nitin, Eeshwar)

Movie/Album: ईश्वर (1989)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: अनजान
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, नितिन मुकेश

आगे सुख तो पीछे दुःख है
पीछे दुःख तो आगे सुख है
अरे दुःख में कोई सुख है
ओह आस-निरास के रंग-रंगी है
सारी उमरिया मितवा रे...

कह गए जोगी ज्ञानी-ज्ञानी
इस जीवन की अजब कहानी
ज़िन्दगी के कई रंग
कई रंग, कई रूप
कहीं छाँव, कहीं धूप
कोई जाने ना, पहचाने ना
कभी सुख तो कभी दुःख है...

अपना सोचा कब होता है
वो जब सोचे तब होता है
ना ना ना
वो जब सोचे सब होता है
कोई लाख करे शोर
जिसके हाथ में है डोर
उसपर कहाँ चले जोर
कोई जाने ना, हाँ पहचाने ने
थोड़ा सुख तो, थोड़ा दुःख है
थोड़ा दुःख तो, थोड़ा सुख है

जो भी दुखों से हार न माने
उसका जीवन ही जीवन है
दुःख सीता की अग्नि परीक्षा
सुख सीता संग राम मिलन है
जीवन दुःख ही दुःख है
आगे सुख तो पीछे...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!