जूही की कलि मेरी लाडली - Juhi Ki Kali Meri Laadli (Suman Kalyanpur, Dil Ek Mandir)

Movie/Album: दिल एक मन्दिर (1963)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed by: सुमन कल्याणपुर

जूही की कलि मेरी लाडली
नाज़ों की पली मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग तू जिए
नन्हीं सी परी मेरी लाडली...

धरती पे उतर आया चंदा, तेरा चेहरा बना
चम्पे का सलौना गुलदस्ता, तन तेरा बना
ओ मेरी लाडली
कोमल तितली मेरी लाडली
हीरे की कनी मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...

शर्माए दीवाली तारों की, तेरे नैनों से
कोयल ने चुराई है पंचम, तेरे बैनों से
ओ मेरी लाडली
गुड़िया सी ढली मेरी लाडली
मोहे लागे भली मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...

हर बोल तेरा सिखलाए हमें दुःख से लड़ना
मुस्कान तेरी कहती है सदा धीरज धरना
ओ मेरी लाडली
गंगा की लहर मेरी लाडली
चंचल सागर मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!