दीप जलाए जो - Deep Jalaye Jo (Suresh Wadkar, Kalaakaar)

Movie/Album: कलाकार (1983)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: इंदीवर
Performed By: सुरेश वाडकर

दीप जलाए जो गीतों के मैंने
तूफ़ाँ क्यूँ कर आए
अश्कों का सागर क्या कम था
बादल क्यूँ बरसाए
दीप जलाए जो गीतों...

जिस पल ने हर पल तरसाया
आज वही पल हमने पाया
स्वरों की माला पहली बार हम
तुझे पहनाने आए
दीप जलाए जो गीतों...

दीप जलाए जो गीतों के मैंने
खुशियों के बादल छाए
शब्द बने तेरी बातों से
सुर जन्मे तेरी साँसों से
तेरी कृपा से हे माँ, हे माँ, हे माँ
तेरी कृपा से कोई भी इंसाँ
कलाकार बन जाए
दीप जलाए जो गीतों...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!