माही वे - Mahi Ve (Sadhna, Sujata, Udit, Sonu, Shankar, Kal Ho Naa Ho)

Movie/Album: कल हो ना हो (2003)
Music By: शंकर-एहसान-लाॅय
Lyrics By: जावेद अख़्तर
Performed By: साधना सरगम, मधुश्री, उदित नारायण, सोनू निगम, शंकर महादेवन

माही वे, माही वे
दैट्स द वे, माही वे
तेरे माथे झूमर दमके
तेरे कानों बाली चमके है रे
माही वे
तेरे हाथों कंगना खनके
तेरे पैरों पायल छनके है रे
माही वे
नैनों से बोले रब्बा रब्बा
मन में डोले रब्बा रब्बा
अमृत घोले रब्बा रब्बा, तू सोणीये
जिंद माही वे, सोणी सोणी आजा माही वे
एवरीबाॅडी सिंग, सोणी सोणी आजा माही वे

दैट्स द वे, माही वे
हो तेरी आँखें काली-काली
तेरा गोरा-गोरा मुखड़ा है रे
माही वे
तेरी रंगत जैसे सोना
तू चाँद का जैसे टुकड़ा है रे
माही वे
तेरे गाल गुलाबी रब्बा रब्बा
चाल शराबी रब्बा रब्बा
दिल की खराबी रब्बा रब्बा, तू सोणीये
जिंद माही वे...

बरसे रंगीनी, कलियाँ है महकी भीनी-भीनी
बजे मन में हल्के-हल्के शहनाई रे
जितने है तारे आँचल में आ गए सारे
दिल ने जैसे ही ली अंगड़ाई रे
हो, तू जो आई सज के, मेहंदी रच के
चल बच के ओ सोणीये
दिल कितनों का खाए धजके, ओ सोणीये...
जिंद माही वे...

चँदा मेरे चँदा तुझे कैसे मैं ये समझाऊँ
मुझे लगती है तू कितनी प्यारी रे
हो खुशियाँ जितनी हैं सब ढूँढ-ढूँढ के लाऊँ
तेरी डोली के संग कर दूँ सारी रे
हे, तू जो आई सज के, मेहंदी रच के
चल बच के ओ सोणीये
दिल कितनों का खाए धजके, ओ सोणीये...
जिंद माही वे...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!