कमरिया लचके रे - Kamariya Lachke Re (Abhijeet, Udit Narayan, Anuradha Paudwal, Mela)

Movie/Album: मेला (2000)
Music By: राजेश रोशन
Lyrics By: समीर
Performed By: अभिजीत, उदित नारायण, अनुराधा पौडवाल

शोला जैसे भड़के रे, दिल मेरा धड़के रे

कमरिया लचके रे, बाबू ज़रा बचके रे
शोला जैसे भड़के रे, दिल मेरा धड़के रे
जले रे, जले रे, जले रे, जले रे, जले रे मोरा जिया
छूना ना, छूना ना, छूना ना, छूना ना, छूना ना मोहे पिया

आई कहाँ से ओ दिलरुबा
जादू-सा तेरा सब पे चला
अरे दीवानों को ना ऐसे जला
यूँ ना दिलों पर छुरियाँ चला
कमरिया लचके रे...

आई रे आई रे आई
सपनों की रानी है आई
आई रे आई रे आई रे आई

एक ना एक दिन मिल जाएगी
हमको भी सपनों की रानी
आई रे आई रे आई...

साँसों में है चिंगारियाँ, सीने में कोई चुभन है
नस-नस में जागी अगन है
रोक ना तू इस आग को, जलने दे जो भी अगन है
देख ज़माना मगन है
मेरे कलेजे में कोई तीर है गड़ा
चढ़ा रे चढ़ा रे चढ़ा रे, कैसा ज़हर है चढ़ा
तुझको नहीं कुछ भी होश है
तेरी उमर का ये दोष है
दीवानों को ना ऐसे जला...

सारा जहां पीछे पड़ा, दुश्मन बनी ये जवानी
मुश्किल में है ज़िन्दगानी
डर है तुझे किस बात का, हम तेरे साथी हैं जानी
फिर काहे सोचे दीवानी
कहीं दीवाना तो कहीं कातिल है खड़ा
जाना मेरे जाना ओहो मुश्किल है बड़ा
जाएगी बच के अब तू कहाँ
तू है जहाँ अब हम है वहाँ
दीवानों को ना ऐसे जला...a

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!