मामा हो मामा - Mama Ho Mama (Md.Rafi, Manna Dey, Parvarish)

Movie/Album: परवरिश (1958)
Music By: दत्ता राम
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मोहम्मद रफ़ी, मन्ना डे

मामा हो मामा, हो मामा मामा मामा
घरवाले खाएँ चक्कर, ऐसा है अपना चक्कर
चक्कर में तुम नहीं आना, प्यारे मामा
हो मामा, मामा हो मामा...

जो असली है कभी, उससे खतायें हो नहीं सकती
जो नकली है कभी, उससे वफायें हो नहीं सकती
अरे नहीं भाई नहीं
बुरा हो वक़्त तो, साया भी अपना दूर रहता है
वफ़ादारी का शिकवा क्या, ज़माना ये ही कहता है
असली है कौन भईया, नकली है कौन भईया
हो मामा, मामा हो मामा...

ये दुनिया है, यहाँ अपने भी आँखें फेर लेते हैं
अगर कुछ नाम हो जाये, तो आकर घेर लेते हैं
हाँ जहां वाले, मोहब्बत करके वादा क्या निभाएँगे
हुए हैं आज बेगाने, हमीं पर ताने कस्ते हैं
अरे कैसे
हो असली है कौन भईया, नकली है कौन भईया
हो मामा, मामा हो मामा...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!