मुंडियाँ - Mundiyan (Navraj Hans, Palak Muchhal, Baaghi 2)

Movie/Album: बाघी 2 (2018)
Music By: संदीप शिरोडकर
Lyrics By: जिनी दीवान
Performed By: नवराज हंस, पलक मुच्छल

हो निमी निमी आँखों को झुका के रख ले
गोरे-गोरे गालों को छुपा के रख ले
ऐवें करी ना की, ऐवें करी ना की
ओ ऐवें करी ना किसी दे नाळ प्यार
मुंडियाँ तों बच के रही
नि तू हुण हुण होई मुटियार
मुंडियाँ तों बच के रही

नखरा विलैती मेरा स्वैग करारा
मेरी ही जवानी ने तो सब सर डाला
हॉट एन कूल सदा मूड मेरा
मुंडियों की टोली कंफ्यूज ज़रा
मुंडियाँ तों बच के रही ओय

मेरा क्या कसूर जो नशीले नैन हो गए
भूल के अदब ये रंगीले नैन हो गए
सँभली ना जाए ऐसी तोड़ जवानी
आजा दे दे मुझे, आजा दे दे मुझे
ओ आजा दे दे मुझे थोड़ी सी उधार
मुंडियाँ तों बच के
मुंडियाँ तों बच के रही...

मुड़ियों के लब पे है मेरी ये कहानियाँ
दिल की ये गलियों में मेरी ही निशानियाँ
ओ गोरा-गोरा रंग तेरी मोरों जैसी तौर
ना ही तेरे जैसी, ना ही तेरे जैसी
ना ही तेरे जैसी सोहणी कोई नार
ओ मुंडियाँ तों बच के रही...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!