सुन ले ज़रा - Sun Le Zara (Arnab Dutta, 1921)

Movie/Album: 1921 (2018)
Music By: हरीश सगने
Lyrics By: शकील आज़मी
Performed By: अर्नब दत्ता

ऐ दिल ठहर जा
जीने की कोई, तू वजह ढूँढ ले
घबरा ना गम से
अपनी ख़ुशी का, तू पता ढूँढ ले
तू प्यार कर, इज़हार कर
है प्यार ही गम की दवा
सुन ले ज़रा, सुन ले ज़रा
ऐ मेरे दिल सुन ले ज़रा...

हूँ प्यार तेरा महसूस कर तू
सीने में तेरे उतरा हूँ मैं
छू के मुझे तू पहचान लेगा
लम्हाँ तेरा ही गुज़रा हूँ मैं
आँखों में तेरी ये रात है जो
इस रात की है मुझमें सुबह
कोहरे के पीछे मैं रौशनी सा
तेरे लिए ही ठहरा हूँ मैं
ढूँढ ले जो खो गया
मैं हूँ तेरा वो रास्ता
सुन ले ज़रा, सुन ले ज़रा...

हाथों में तेरे रेखाओं सा मैं
लफ़्ज़ों में अपने बुन ले मुझे
आवाज़ क्या दूँ मैं बे-सदा हूँ
धड़कन में अपनी सुन ले मुझे
मैं ज़िन्दगी हूँ, जी ले मुझे तू
आँसू हूँ तेरा, पी ले मुझे
मैं ख्वाब जैसा, टूटा हूँ तुझमें
बिखरा हूँ तुझमें, चुन ले मुझे
देख ले तुझमें हूँ मैं
तू ही मेरा है आइना
सुन ले ज़रा, सुन ले ज़रा...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!