यारा तू मुझमें - Yaara Tu Mujhmein (Arnab Dutta, 1921)

Movie/Album: 1921 (2018)
Music By: हरीश सगने
Lyrics By: शकील आज़मी
Performed By: अर्नब दत्ता

यारा तू मुझमें यूँ बसा
मुझमें रही ना मेरी जगह
फैला है तू मेरी रूह तक
तुझमें ही मैं जीने लगा
तू अब में है, तू ही बाद में
तू ही रूबरू, तू ही याद में
जितना था मैं तेरा हो गया
अपना भी मैं ना रहा
यारा तू मुझमें यूँ बसा...

तू नींद भी, है ख्वाब भी, है आँख में मेरी
तेरी ही आग जल रही, है राख में मेरी
हँसूँ तेरी ख़ुशी में, तेरे गम में रोऊँ मैं
तेरे ही साथ जागूँ मैं, तुझी में सोऊँ मैं
जीना मेरा, मरना मेरा, तू ही तो है अब मेरा
तू जो नहीं, कुछ भी नहीं, तू ही तो है सब मेरा
यारा तू मुझ में यूँ बसा...

चले तू मेरी साँस में, सफर तेरा हूँ मैं
तू छोड़ के ना जाना मुझको, घर तेरा हूँ मैं
रहेगा मेरे साथ, मुझसे वादा कर ले तू
आज मुझसे प्यार थोड़ा ज़्यादा कर ले तू
तेरे बिना, क्या है मेरा, तू ही तो जहां मेरा
मेरी ज़मीं, मेरा यकीं, तू ही आसमाँ मेरा
यारा तू मुझ में यूँ बसा...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!