देर लगी लेकिन - Der Lagi Lekin (Shankar Mahadevan, Zindagi Na Milegi Dobara)

Movie/Album: ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा (2011)
Music By: शंकर-एहसान-लॉय
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: शंकर महादेवन

देर लगी लेकिन
मैंने अब है जीना सीख लिया
जैसे भी हो दिन
मैंने अब है जीना सीख लिया
अब मैंने, ये जाना है
खुशी है क्या, गम क्या
दोनों ही, दो पल की हैं रुतें
ना ये ठहरे ना रुके
ज़िन्दगी दो रंगों से बने
अब रूठे, अब मने
यही तो है, यही तो है, यहाँ

देर लगी लेकिन
मैंने अब है जीना सीख लिया
आँसुओं के बिन
मैंने अब है जीना सीख लिया
अब मैंने ये जाना है
किसे कहूँ अपना
है कोई, जो ये मुझसे कह गया
ये कहाँ तू रह गया
ज़िन्दगी तो है जैसे कारवाँ
तू है तनहा कब यहाँ
सभी तो है, सभी तो है यहाँ

कोई सुनाए जो हँसती मुस्कुराती कहानी
कहता है दिल, मैं भी सुनूँ
आँसू में मोती हो, जो किसी की निशानी
कहता है दिल, मैं भी चुनूँ
बाहें दिल की हो बाहों में ही
चलता चलूँ यूँ ही राहों में ही
बस यूँ ही, अब यहाँ, अब वहाँ
देर लगी लेकिन...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!