मैं तो एक ख्वाब हूँ - Main To Ek Khwaab Hoon (Mukesh)

Movie/ Album: हिमालय की गोद में (1965)
Music By: कल्यानजी-आनंदजी
Lyrics By: आनंद बक्षी, इन्दीवर, कमर जलालाबादी
Performed By: मुकेश

मैं तो एक ख्वाब हूँ
इस ख्वाब से तू प्यार ना कर
प्यार हो जाए तो
फिर प्यार का इजहार ना कर

ये हवाएं कभी चुपचाप चली जायेंगी
लौट के फिर कभी गुलशन में नहीं आयेंगी
अपने हाथों में हवाओं को गरिफ्तार न कर
मैं तो एक ख्वाब हूँ...

तेरे दिल में है मोहब्बत के भड़कते शोले
अपने सीने में छुपा ले ये धड़कते शोले
इस तरह प्यार को रुसवा सर-ए-बाज़ार न कर
मैं तो एक ख्वाब हूँ...

शाख से टूट के गूंचे भी कहीं खिलते हैं
रात और दिन भी ज़माने में कहीं मिलते हैं
भूल जा, जाने दे, तकदीर से, तकरार न कर
मैं तो एक ख्वाब हूँ...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!