तुम नहीं गम नहीं - Tum Nahin Gham Nahin (Jagjit Singh)

Movie/Album: अ जर्नी (1999)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: सईद राही
Performed By: जगजीत सिंह

तुम नहीं, गम नहीं, शराब नहीं
ऐसी तन्हाई का जवाब नहीं

गाहे-गाहे इसे पढ़ा कीजिये,
दिल से बेहतर कोई किताब नहीं
ऐसी तन्हाई...

जाने किस-किस की मौत आई है
आज रुख पे कोई नकाब नहीं
ऐसी तन्हाई...

वो करम उँगलियों पे गिनते हैं
ज़ुल्म का जिनके कुछ हिसाब नहीं
ऐसी तन्हाई...

3 comments :

  1. Wonderful penmanship, and a ghazal for lifetime by Jajit ji.

    ReplyDelete
  2. वो करम उँगलियों पे गिनते हैं
    ज़ुल्म का जिनके कुछ हिसाब नहीं...waah

    ReplyDelete
  3. जो क़यामत ना ढा सके राही, वो किसी काम का शबाब नहीं ...

    ReplyDelete

Like this Blog? Let us know!