तू ही मेरा - Tu Hi Mera (Jannat 2, Shafqat Amanat Ali Khan)

Movie/Album: जन्नत 2 (2012)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: सईद कादरी
Performed By: शफ़कत अमानत अली खान

तेरे इश्क में डूबा रहे, दिन रात यूँ ही सदा
मेरे ख्वाब से आँखें तेरी, इक पल ना होए जुदा
मेरा नाम तू हाथों पे अपने, लिखे बार हाँ
ऐ काश के ऐसा भी इक दिन, लाये वो खुदा
तू ही मेरा मेरा मेरा

है तेरी चाहत, मेरी ज़रुरत
सूनी है तुझ बिन, दुनिया मेरी
ना रह सकूंगा, मैं दूर इनसे
है मेरी जन्नत, गलियां तेरी
उम्मीद ये सीने में लेके, मैं हूँ जी रहा
कभी तू मिले मुझसे कहे, के मैं हूँ बस तेरा
तू ही मेरा मेरा...

तू है किस्मत, तू ही है रहमत
तुझसे ही जुड़ी है, मेरी हर ख़ुशी
तू ही मोहब्बत, तू ही है राहत
लगती भली है, तेरी सादगी
पाता हूँ खुद को हर घड़ी, तेरे बिना तन्हां
मुझे थाम ले, मुझे रोक ले
भटका हूँ, मैं भटका
तू ही मेरा...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!