तेरी गलियाँ - Teri Galliyan (Ankit Tiwari, Ek Villain)

Movie/Album: एक विलेन (2014)
Music By: अंकित तिवारी
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: अंकित तिवारी

यहीं डूबे दिन मेरे
यहीं होते हैं सवेरे
यहीं मरना और जीना
यहीं मंदिर और मदीना

तेरी गलियाँ, गलियाँ तेरी गलियाँ
मुझको भावें गलियाँ, तेरी गलियाँ
तेरी गलियाँ, गलियाँ तेरी गलियाँ
यू तड़पावें, गलियाँ तेरी गलियाँ

तू मेरी नींदों मे सोता है
तू मेरे अश्क़ो में रोता है
सरगोशी सी है ख्यालों में
तू न हो, फिर भी तू होता है
है सिला तू मेरे दर्द का
मेरे दिल की दुआयें हैं
तेरी गलियाँ...

कैसा है रिश्ता तेरा-मेरा
बेचहरा फिर भी कितना गहरा
ये लम्हें, लम्हें ये रेशम से
खो जायें, खो ना जायें हमसे
काफिला, वक़्त का रोक ले
अब्र से जुदा ना हो
तेरी गलियाँ...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!