आओ तुम्हें मैं प्यार सिखा दूँ - Aao Tumhein Main Pyar Sikha Doon (Lata, Rafi, Upaasna)

Movie/Album: उपासना (1971)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

प्यार सिखा दूँ, सिखला दो ना
आओ तुम्हें मैं प्यार सिखा दूँ, सिखला दो ना
प्रेम नगर की डगर दिखा दूँ, दिखला दो ना
दिल की धड़कन क्या होती है
ये अनजाना राज़ बता दूँ, बतला दो ना
आओ तुम्हें मैं प्यार...

पहले धीरे से पलकों की तिलमन ज़रा गिरा लो
कैसे, ऐसे
अब अपने रुखसारों पर ये ज़ुल्फ़ ज़रा बिखरा लो
हूँ ऐसे, हाँ ऐसे
देखो मुझको डर लागे, देखो मुझको डर लागे
जान क्या होगा आगे
सबर करो तो समझा दूँ, समझा दो ना
आओ तुम्हें मैं प्यार...

छोड़ के बेगानापन अब तुम मेरे पास आ जाओ
आ गई, लो आ गई
भूल के सारी दुनिया, इन बाहों में खो जाओ
ना ना ना ना, ना बाबा ना
प्यार नहीं होता ऐसे, प्यार नहीं होता ऐसे
होता है फिर वो कैसे
ठहरो तुमको समझा दूँ, समझा दो ना
आओ तुम्हें मैं प्यार...

फूल की खुशबू, पवन की सूरत कभी आँख से देखी
नहीं तो
तन तो देखा, मन की मूरत, कभी आँख से देखी
नहीं नहीं
प्यार नहीं कोई वासना, प्यार नहीं कोई वासना
ये तो एक उपासना
समझे? नहीं समझे?
आओ तुम्हें मैं समझा दूँ...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!