इक इक आँख मेरी - Ik Ik Aankh Meri (Asha Bhosle, Naseeb Apna Apna)

Movie/Album: नसीब अपना अपना (1986)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले

इक-इक आँख मेरी सवा-सवा लाख की
मीठी-मीठी बतियों में खुश्बू गुलाब की
तूने हाय कदर मेरी, अरे जानी नहीं
प्यासी नज़र मेरी पहचानी नहीं
इक इक आँख मेरी...

ऐ जी देखो के आज मैं, नए फैशन में ढल गई
लोगों का रंग देख के, मैं भी मचल गई
देखो के सैय्याँ तुम्हरे ही कारण कैसी बदल गई
मैं सबको पीछे छोड़ के आगे निकल गई
मैंने वही किया जो तेरी मर्ज़ी है
फिर भी कोई मेरी कदर-दानी नहीं
प्यासी नज़र मेरी...

अपनों का गम नहीं कोई, दुनिया का डर मुझे
करती रहूँगी मैं वही, जिसमें तू खुश रहे
संगम यही है प्यार का, कोई भी कुछ कहे
जमुना के साथ-साथ में, गंगा जिधर बहे
पकड़ ले कलाई यही रीत प्यार की है
पिया आ यहाँ कोई परेशानी नहीं
प्यासी नज़र मेरी...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!