निगाहों ने छेड़ा है - Nigaahon Ne Chheda Hai (Suresh Wadkar, Sadhana Sargam, Ghatak)

Movie/Album: घातक (1996)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: सुरेश वाडकर, साधना सरगम

निगाहों ने छेड़ा है दिल का तराना
सुन कर कहीं ना तुम बुरा मान जाना
मैंने किया है प्यार पहली बार
निगाहों ने छेड़ा है...

दिल की बातें आँखों से क्या
होंठों से बोलो सजना
यूँ है कि मुझको प्यार तुमसे हो गया
है बस यही कहना, ओ जानेजाना
मैंने किया है प्यार...

दिल की हालत कैसे दिखाऊँ
सोचा ही करता था जतन
आँखों में अब तो रहने लगी है
सूरत तुम्हारी जानेमन
रस की भीगी इन आँखों में
आ मैं डूब के रह जाऊँ
मैं भी ये चाहूँ आज तेरे प्यार के
तूफाँ में बह जाऊँ, देखे ज़माना
मैंने किया है प्यार...

जैसे अब है वैसे क्या तू
कल भी मुझको चाहेगा
जो आज तुझको ये
दिल-ओ-जाँ दे चुका
कैसे ना चाहेगा
चाहेगा चाहेगा, कल भी दीवाना
मैंने किया है प्यार...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!