ऐसी हसीन चांदनी - Aisi Haseen Chandni (Kishore Kumar, Dard)

Movie/Album: दर्द (1981)
Music By: खय्याम
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: किशोर कुमार

ऐसी हसीन चाँदनी पहले कभी न थी
शामिल है इसमें आपके चेहरे का नूर भी
ऐसी हसीन चाँदनी...

ज़ुल्फ़ें हैं या घटाओं की परछाईयाँ सी हैं
आँखों में नीली झील की गहराईयाँ सी हैं
लब हैं कली गुलाब की, रुखसार चम्पई
ऐसी हसीन चाँदनी...

कीजे मेरा ख्याल अजी कुछ तो सोचिए
अपनी निग़ाह अपने तबस्सुम को रोकिए
हद से गुज़रती जाए है दीवानगी मेरी
ऐसी हसीन चाँदनी...

तन्हाईयों का प्यार से दामन सजाइए
तड़पा लिया, सता लिया, अब आ भी जाइए
कब से है इन्तज़ार में, बाँहें खुली हुई
ऐसी हसीन चाँदनी...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!