हम हाल-ए-दिल सुनायेंगे - Hum Haal-e-Dil Sunayenge (Mubarak Begum, Madhumati)

Movie/Album: मधुमती (1958 )
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुबारक बेगम

तुम्हारा दिल मेरे दिल के, बराबर हो नहीं सकता
वो शीशा हो नहीं सकता, ये पत्थर हो नहीं सकता

हम हाल-ए-दिल सुनायेंगे, सुनिये कि न सुनिये
सौ बार मुस्कुरायेंगे, सुनिये कि न सुनिये
हम हाल-ए-दिल सुनायेंगे...

रहेगा इश्क़ तेरा, ख़ाक़ में मिला के मुझे
हुए हैं इब्तदा मीरन के इंतहा के मुझे
हम हाल-ए-दिल सुनायेंगे...

अजब है आह मेरी, नाम दाग है मेरा
तमाम शहर जला दोगे, क्या जला के मुझे
हम हाल-ए-दिल सुनायेंगे...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!