रिमझिम के गीत सावन - Rimjhim Ke Geet Sawan (Lata Mangeshkar, Md.Rafi, Anjaana)

Movie/Album: अनजाना (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

रिमझिम के गीत सावन गाए
हाए भीगी भीगी रातों में
होठों पे बात जी की आए
हाए भीगी भीगी रातों में

तेरा मेरा पूछे नाता
बड़ी वो ये घटा घनघोर है
चुप हूँ ऐसे, मैं कह दूँ कैसे
मेरा साजन नहीं तू कोई और है
कि तेरा नाम होठों पे मेरे
तेरे सपने मेरी आँखों में
रिमझिम के गीत सावन...

मेरा दिल भी है दीवाना
तेरे नैना भी हैं नादान से
कुछ न सोचा कुछ न देखा
कुछ भी पूछा न इक अनजान से
चल पड़े साथ हम कैसे
ऐसे बन के साथी राहों में
के रिमझिम के गीत सावन...

बड़ी लम्बी जी की बातें
बड़ी छोटी ये बरखा की रात जी
कहना क्या है, सुनना क्या है
कहने सुनने की अब क्या है बात जी
बिन कहे बिन सुने दिल ने
दिल से कर ली बातें बातों में
रिमझिम के गीत सावन...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!