जिस देश में गंगा रहता है - Jis Desh Mein Ganga Rehta Hai (Abhijeet, Title)

Movie/Album: जिस देश में गंगा रहता है (2000)
Music By: आनंद राज आनंद
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: अभिजीत

भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरियाँ गाती है
मद्धम-मद्धम सी पवन चले
कोयलिया गीत सुनाती है
बच्चा वहाँ आज भी चाँद को
चंदामामा कहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
भाभी कंगन खनकाती...

गाँव का पनघट, पनघट का पानी
भरे गगरिया कोई दीवानी
ठंडी-ठंडी पुरवाई में मीठी-मीठी खुशबू
मत पूछो उस खुशबू में होता है कैसा जादू
जादू ऐसा होता है के हर कोई झूमता रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
भाभी कंगन खनकाती...

दिल में बसा कर गाँव की ममता
शहर में आया मैं जोगी रमता
सुख-दुःख सारे मान कर और उनको अपना कर
तरह-तरह के नातों से घर बन जाता है सुन्दर
पल-पल सच्चे रिश्तों का वहाँ प्यार बरसता रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
भाभी कंगन खनकाती...

No comments :

Post a Comment

Like this Blog? Let us know!